7×70: दूसरों… और स्वयं को क्षमा करके शांति पाना

पता लगाएं कि क्षमा कैसे करना है। सच में और सदा-सर्वदा के लिए।

कुछ हुआ था। हो सकता है कि यह कल ही हुआ हो। हो सकता है कि यह वर्षों पहले हुआ है। और उस घटना ने आपको बदल दिया था। और जब तक आप उन लोगों को क्षमा नहीं करेंगे जिन्होंने आपके साथ अन्याय किया है, तब तक आपके मन का घाव रिसता रहेगा और फैल जाएगा। आखिरकार, आप खुद अपने घायल मन के कैदी बन सकते हैं।. यदि कहानी यहीं पर खत्म हो गई है, तब तो आपकी चोट को कभी ठीक नहीं किया जा सकेगा। लेकिन अच्छी खबर यह है कि कहानी अभी खत्म नहीं हुई है।.

आज तक के सबसे क्रांतिकारी पाठ्यक्रमों में से एक का सम्बन्ध, आपके मन के भीतर छिपी किसी बात से है, जो आपको उन तरीकों से प्रभावित करती है जिनकी आपने कभी कल्पना भी नहीं की होगी।.

ब्रूस विलकिन्सन अपनी रचनात्मक, कहानी से प्रेरित, अत्यधिक प्रेरणादायक शैली में, आपको सिखाएंगे कि कैसे अन्य लोगों को इस तरह से क्षमा करें कि आपको उन्हें फिर कभी क्षमा न करना पड़े।. यदि आप उन पाँच गुप्त बातों का पालन करें जो यीशु क्षमा के विषय में बताई हैं, तब आपको उन्हें केवल एक ही बार क्षमा करना पड़ेगा। यह खत्म हो जाएगा। सच में और सदा सर्वदा के लिए।.

इस पाठ्यक्रम को कैसे लें।

  1. इस पाठ्यक्रम का अध्ययन करने के लिए आपको लॉग-इन करना होगा
  2. यदि आप लॉग्ड-इन हैं, लेकिन अभी तक दाखिला नहीं लिया है तो ‘पाठ्यक्रम लें’ बटन पर क्लिक करें (यह केवल तभी दिखाई देगा यदि आपने अभी तक दाखिला नहीं लिया है)
  3. अब सत्र आपके लिए खुले रहेंगे, यहाँ तक कि वापस आने पर भी
अभी तक रजिस्टर नहीं किया? यहाँ रजिस्टर करें
I agree that Teach Every Nation(TEN) may process my personal information for, amongst other things, the purposes of providing me with access to their products/services, their site; and for any other purposes set out in TEN’s privacy policy. You can view TEN’s Privacy and Information Processing Policy HERE
हिंदी प्रचार वीडियो जल्द ही आ रहा है

पाठ्यक्रम शिक्षक: डॉ. ब्रूस विलकिन्सन

संस्थापक और अध्यक्ष: टीच एवरी नेशन

अंतरराष्ट्रीय सेवकाई के अगुवे और पुरस्कार विजेता लेखक डॉ ब्रूस विलकिन्सन ने TEN की स्थापना चार दशकों की प्रामाणिक वैश्विक सेवकाई और प्रशिक्षण के ‘सर्वोत्तम आचरणों’ की पराकाष्ठा के रूप में की थी। ब्रूस ने TEN की स्थापना 2013 में की थी क्योंकि उनका मानना है कि “महान आज्ञा को पूरा करने के लिए, ऐसे लाखों पास्टरों और कलीसिया के अगुवों के प्रशिक्षण से अधिक रणनीतिक कुछ भी नहीं है जिनकी पहुँच पारंपरिक शैक्षणिक संस्थानों तक नहीं है या वे उनका खर्च नहीं उठा सकते।”

ब्रूस ने प्रमुख राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों में 80,000 दर्शकों या उससे अधिक लोगों से भरे स्टेडियमों में मुख्य भाषण दिए हैं। उनकी क्रांतिकारी पुस्तक, याबेज़ की प्रार्थना, इतिहास में सबसे तेजी से बिकने वाली पुस्तक थी, जिसकी दुनिया भर में 2 करोड़ से भी अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं। उन्होंने 70 से भी अधिक पुस्तकें लिखी हैं जिनका 30 भाषाओं में अनुवाद किया गया है, जिनमें कई ऐसी पुस्तकें भी शामिल हैं जो द न्यू यॉर्क टाइम्स, द वॉल स्ट्रीट जर्नल और यूएसए टुडे की सर्वाधिक विक्रय सूची में पहले स्थान पर पहुंच गई थीं।

एक वक्ता और लेखक के रूप में लोकप्रिय होने के अलावा, ब्रूस एक प्रतिभाशाली अगुवे और प्रशिक्षक भी हैं। उन्होंने संसार के सबसे बड़े धार्मिक सेमिनार संगठन, वॉक थ्रू द बाइबल का निर्माण किया है। उन्होंने टीचिंग फॉर लाइफ चेंज में 100,000 पेशेवर शिक्षकों को प्रशिक्षित किया है, और वैश्विक पहल वर्ल्ड टीच की शुरुआत और अगुवाई भी की है, जिसने 83 देशों में जीवन कौशल पाठ्यक्रम संचालित करने के लिए 30,000 से अधिक स्वदेशी अगुवों को भर्ती किया और उन्हें प्रशिक्षित भी किया है। उन्होंने एक ऐसे आयोग की अध्यक्षता भी की है, जो एक ऐसा आंदोलन है जिसमें 87 राष्ट्रीय संगठन रूसी शिक्षकों को नैतिकता और शिक्षण पद्धतियों पर प्रशिक्षित करने के लिए एक साथ जुड़े थे।

ब्रूस प्रमुख टेलीविजन और रेडियो कार्यक्रमों में एक विशेष अतिथि रहे हैं और उन्होंने विदेशी राष्ट्रपतियों के साथ-साथ अमेरिकी सरकार के प्रमुख नेताओं के साथ निजी बैठकें भी की हैं।

en_ZAEnglish